Swadeshi Aur Rastra Chetna (PB)

45

ISBN: 81-7309-039-4
Pages:
Edition:
Language:
Year:
Binding:

Availability: 569 in stock Category:
View cart

Description

गांधीजी ने स्वदेशी पर बहुत जोर दिया और उपेक्षा की थी कि भारतवासी देश की बुनियाद को पक्का करने के लिए अपने क्षेत्र में अथवा अपने देश में बनी चीजों का प्रयोग करें। इतना ही नहीं, देश की आत्मा को देखकर उसके साथ आत्मीयता का नाता जोड़ें। विदेशी माला की होली की आज भी हमें यद है। यह पुस्तक उसी ओर हमारा ध्यान आकृष्ट करती हैं।

Additional information

Weight 50 g
Dimensions 12 × 17.5 × 0.50 cm

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Swadeshi Aur Rastra Chetna (PB)”