Vidrohi Atmaye (PB)

70

ISBN: 978-81-7309-2
Pages:
Edition:
Language:
Year:
Binding:

Availability: 2 in stock Category:
View cart

Description

अंतर्राष्ट्रीय जगत मंे जिन लेखकों का स्थान बहुत ऊंचा है, उनमें खलील जिब्रान अग्रणी हैं। इस पुस्तक में उनकी सत्रह कहानियां हैं। ये सभी कहानियां अत्यंत रोचक हैं। पुस्तक को एक बार हाथ में उठा लेने के बाद बिना पूरी पढ़े छोड़ना असंभव है। रोचकता के साथ-साथ कहानियां उद्बोधक भी हैं। प्रत्येक कहानी को पढ़ने के उपरांत पाठक अनुभव करता है कि संसार में जो संत्रास, पीड़ा और विषमता है, उसके लिए मनुष्य स्वयं जिम्मेदार है और इस तथा अन्य बुराइयों को दूर करने के लिए मनुष्य को ही प्रयत्न करना होगा। प्रस्तुत पुस्तक पाठकों को एक नई दृष्टि प्रदान करेगी और लेखक की अन्य कृतियों की भांति सभी क्षेत्रों और वर्गों में चाव से पढ़ी जाएगी।

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Vidrohi Atmaye (PB)”