Hum Kare Kya (PB)

100

ISBN: 978-81-7309-3
Pages:
Edition:
Language:
Year:
Binding:

Availability: 252 in stock Category:
View cart

Description

प्रस्तुत पुस्तक माला में मुख्य प्रेरक विचार महात्मा गांधी के एकादश व्रत हैं। ये व्रत जीवनोपयोगी हैं। पहली पुस्तक में हमने गांधीजी के जीवन दर्शन को उजागर किया था। इस पुस्तक में उनके ‘सत्य व्रत’ पर प्रकाश डाला गया है। गांधी जी सत्य को परमेश्वर मानते थे। पुस्तक बड़ी नहीं है, उसमें 56 पृष्ठ हैं। आशा है पाठक इससे लाभान्वित होंगे।

Additional information

Weight 250 g
Dimensions 12.5 × 18 × 1.9 cm

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Hum Kare Kya (PB)”