Upnisado Ka Bodh (PB)

50

ISBN:
Pages:
Edition:
Language:
Year:
Binding:

Availability: 93 in stock Category:
View cart

Description

प्रस्तुत पुस्तक में मनीषी लेखक ने उपनिषदों के कुछ चुने हुए वचनों को लेकर बड़ी ही सरल एवं सुबोध भाषा में उनका सार पाठकों को दिया है। उपनिषदों का भंडार बड़ा ही समृद्ध है। उसमें से लोकोपयोगी विचार छांटना आसान काम नहीं है। काकासाहेब ने इस कठिन काम को बड़ी खूबी के साथ किया। पुस्तक इतनी उद्बोधक है कि पाठक उसे एक बार पढ़कर पटक नहीं सकेंगे। हम विश्वासपूर्वक कह सकते हैं कि इसे जो भी मनोयोगपूर्वक पढ़ेगा, उसे अवश्य लाभ होगा, वैसे भी ज्ञान के सागर में व्यक्ति जितना गहरा गोता लगाता है, उतने ही अनमोल रत्न उसके हाथ लगते हैं।

Additional information

Weight 100 g
Dimensions 11.2 × 17.8 × 0.50 cm

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Upnisado Ka Bodh (PB)”