Jago Bacho (PB)

35

ISBN:
Pages:
Edition:
Language:
Year:
Binding:

Availability: Out of stock Category:

Description

अपर्णा शर्मा ने बच्चों के लिए मोहक कविताएँ लिखी हैं। इन कविताओं में व्याप्त जीवन-राग का रंग उज्ज्वल है। इसलिए इनमें प्रेरणा की आंतरिक पुकार है। बच्चों के हृदय से छलकनेवाले उल्लास में वह सब रहता है जिससे जीवन बड़ा होता है। बच्चों के हृदय में योगी भाव से प्रवेश कर पाना एक बड़ी चुनौती है। इस चुनौती को अपर्णा शर्मा ने बालकों की मनोभूमिका अपनाकर झेला है।

मैं इन बाल कविताओं को पाठक समाज विशेषकर बालसमाज के सामने लाते हुए हर्ष का अनुभव कर रहा हूँ। मुझे यह भरोसा है कि इन कविताओं का भरपूर स्वागत होगा।

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Jago Bacho (PB)”